मियांमार में मुसलमानों का जनसंहार

मियांमार में मुसलमानों का जनसंहार सरकार की निगरानी में जारी है। मानवाधिकार संस्था एमेनेस्टी इन्टरनेश्नल ने कहा है कि मियांमार की सरकार...


मियांमार में मुसलमानों का जनसंहार सरकार की निगरानी में जारी है। मानवाधिकार संस्था एमेनेस्टी इन्टरनेश्नल ने कहा है कि मियांमार की सरकार ने चरमपंथी संगठन माग को मुसलमानों के जनसंहार और उनकी बस्तियां उजाड़ने की खुली छूट दे दी है। एमेनेस्टी इन्टरनेश्नल की रिपोर्ट के अनुसार मियांमार में सैकड़ों मुसलमानों की हत्या कर दी गयी और हत्यारे खुले आम घूमते फिर रहे हैं जबकि पुलिस और सेना मुसलमानों को ही गिरफ़्तार कर रही है। मियांमार में दस जून से आरंभ होने वाले दंगों में अब तक 21 हज़ार से अधिक मुसलमान मारे गये हैं, दर्जनों मस्जिदें शहीद और हज़ारों महिलाएं दुराचार का शिकार हो चुकी हैं |


ईरान ने मियान्मार में मुसलमानों के जनसंहार की आलोचना की है जबकि एक वरिष्ठ सैन्य कमांडर ने कहा है कि मियान्मार में जारी जनसंहार की ईरान अनदेखी नहीं कर सकता। विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता रामीन मेहमान परस्त ने मियांमार में मुसलमानों के जनसंहार पर गहरी चिंता प्रकट की है और कहा है कि आशा है कि मियांमार की सरकार राष्ट्रीय एकता की सुरक्षा और इस देश में मुसलमानों के अधिकारों की रक्षा का वातावरण बनाएगी ताकि मानवत्रासदी को रोका जा सके। इस्लामी गणतंत्र ईरान की सशस्त्र सेना के उपाध्यक्ष जनरल मसऊद जज़ाएरी ने मंगलवार को अपने एक बयान में कहा है कि रिपोर्टों के अनुसार मियांमार में जातीय सफाया हो रहा है और इस्लामी गणतंत्र ईरान इस भयानक अन्याय की अनदेखी नहीं कर सकता। इसी मध्य ईरान की न्यायपालिका के मानवाधिकार विभाग ने भी एक बयान जारी करके मियांमार में व्यापक स्तर पर जारी जनसंहार पर चिंता प्रकट करते हुए देश के अधिकारियों से मांग की है कि वे इस हिंसा को रोकने के लिए तत्काल कार्यवाही करें। याद रहे मियांमार में रोहिंगिया मुसलमानों का व्यापक स्तर पर जनसंहार जारी है और सरकार राहत सामाग्री भी हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में जाने की अनुमति नहीं दे रही है|
Source
ज़ुल्म के खिलाफ आवाज़ उठाना हर इंसान का फ़र्ज़ है |
प्रतिक्रियाएँ: 

Post a Comment

  1. MUSALMANO KO PURI DUNIYA ME HI PRESHAN KIYA JA RAHA HAI.
    YE SAB EK SOCHI SAMJHI SAJISH KE TOR PAR HO RAHA HAI.

    ALLAH TAMAM MUSALMANO KI HIFAJAT FARAMAYE - AMEEN

    ReplyDelete

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments

Admin

Featured Post

नजफ़ ऐ हिन्द जोगीपुरा के मुआज्ज़ात और जियारत और क्या मिलता है वहाँ जानिए |

हर सच्चे मुसलमान की ख्वाहिश हुआ करती है की उसे अल्लाह के नेक बन्दों की जियारत करने का मौक़ा  मिले और इसी को अल्लाह से  मुहब्बत कहा जाता है ...

Discover Jaunpur , Jaunpur Photo Album

Jaunpur Hindi Web , Jaunpur Azadari

 

Majalis Collection of Zakir e Ahlebayt Syed Mohammad Masoom

A small step to promote Jaunpur Azadari e Hussain (as) Worldwide.

भारत में शिया मुस्लिम का इतिहास -एस एम्.मासूम |

हजरत मुहम्मद (स.अ.व) की वफात (६३२ ) के बाद मुसलमानों में खिलाफत या इमामत या लीडर कौन इस बात पे मतभेद हुआ और कुछ मुसलमानों ने तुरंत हजरत अबुबक्र (632-634 AD) को खलीफा बना के एलान कर दिया | इधर हजरत अली (अ.स०) जो हजरत मुहम्मद (स.व) को दफन करने

जौनपुर का इतिहास जानना ही तो हमारा जौनपुर डॉट कॉम पे अवश्य जाएँ | भानुचन्द्र गोस्वामी डी एम् जौनपुर

आज 23 अक्टुबर दिन रविवार को दिन में 11 बजे शिराज ए हिन्द डॉट कॉम द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर स्थित पत्रकार भवन में "आज के परिवेश में सोशल मीडिया" विषय पर एक गोष्ठी आयोजित किया गया जिसका मुख्या वक्ता मुझे बनाया गया । इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी

item