अपने माँ बाप का तू दिल ना दुखा

आज कुछ विडियो सुन रहा था जिसमें माँ बाप की अजमत और अहमियत को बयान किया गया है. माँ के लिए तो हज़रत मुहम्मद (स.अव) ने यहाँ तक कह दिया की माँ ...

आज कुछ विडियो सुन रहा था जिसमें माँ बाप की अजमत और अहमियत को बयान किया गया है. माँ के लिए तो हज़रत मुहम्मद (स.अव) ने यहाँ तक कह दिया की माँ के पैर के नीचे जन्नत है. और कुरान ने तो यहाँ तक कहा किया गेर मेरे बाद किसी पे सजदा वाजिब होता तो वो माँ है.
शायद इस माँ का ज़िक्र कुरान और हदीसों मैं हमें यह सोंचने पे मजबूर कर देता है की जिसने माँ बाप को नाराज़  किया उसे जन्नत तो यकीनन नहीं मिल सकती.

Apne Maa Baap Ka Tou Dil Na Dukha

Sab Kuch Mil jata hai lekin Maa nahin milti

Maan Ki Shaan

maan tre Doodh Ka Haq

maan tre Doodh Ka Haq Part 2

Apni Khilqat pe ker fikr

Jab too paida hua Kitna Majboor tha

Baap ki Ahmiyat
Maut Ki aghoosh main jab thak ke so jati hai maan
Ai Maan Bata husain Ko Rote Hian kis Tarah

माँ ममता त्याग तपस्या और बलिदान है !
माँ जिंदगी की किताब और अनंत ज्ञान है !!


माँ से सभ्यता संस्कृति और संस्कार है !
माँ से मानवता अपनत्व और संसार है !!


माँ है तो बचपन है स्कूल है हाँथ में दूध की कटोरी है !
माँ है तो ममता है दुलार है निदिया की लोरी है !!


माँ जीवन सवांरती है उसके असंख्य रूप होते है !
माँ जिनके साथ नहीं होती वो ममता के लिए रोते है !!


जबतक बच्चे घर नहीं आते माँ को नींद नहीं आती !
माँ सीने से लगाती है थपकी देकर सुलाती है !!


माँ बच्चो पर आती विपदा सहर्ष हर लेती है !
भूख गरीबी कुटिया में भी जीवन गुजार देती है !!

 

माँ मरियम फातिमा पन्नाधाय में नजर आती है !
माँ गीता बाईबल और कुरान में नजर आती है !!


इस भौतिकता की आभा में हम परछाई पकड़ने जाते है !
घर में बूढ़े माँ-बाप के लिए कुछ काम सौप के जाते है !!


वो सेवा वो सत्कार कहाँ अहंकार हमारी बाड़ी है !
हम माँ की ममता भूल चुके घर-घर की यही कहानी है !!


माँ के दूध का कर्ज चुकाया नहीं जा सकता !
माँ- बाप का स्थान दूसरा ले नहीं सकता !!


माँ-बाप के आशीषों से लोग जिंदगी की ऊँचाईया छूलेते है !
वो लोग अज्ञानी अहंकारी है जो माँ-बाप से मुंह मोड़ लेते है !!


माँ-बाप का सम्मान करो उन्हें असहनीय शब्द मत बोलो !
माँ-बाप के लिए ब्रिधा-आश्रम के नहीं अपने घर के दरवाजे खोलो !!


माँ-बाप के लिए ब्रिधा-आश्रम के नहीं अपने घर के दरवाजे खोलो !!

माँ ममता त्याग तपस्या और बलिदान है -- सनोवर

प्रतिक्रियाएँ: 

Related

नौजवानों की दुनिया 1399560707625047478

Post a Comment

emo-but-icon

Follow Us

Hot in week

Recent

Comments

Admin

Featured Post

नजफ़ ऐ हिन्द जोगीपुरा का मुआज्ज़ा , जियारत और क्या मिलता है वहाँ जानिए |

हर सच्चे मुसलमान की ख्वाहिश हुआ करती है की उसे अल्लाह के नेक बन्दों की जियारत करने का मौक़ा  मिले और इसी को अल्लाह से  मुहब्बत कहा जाता है ...

Discover Jaunpur , Jaunpur Photo Album

Jaunpur Hindi Web , Jaunpur Azadari

 

Majalis Collection of Zakir e Ahlebayt Syed Mohammad Masoom

A small step to promote Jaunpur Azadari e Hussain (as) Worldwide.

भारत में शिया मुस्लिम का इतिहास -एस एम्.मासूम |

हजरत मुहम्मद (स.अ.व) की वफात (६३२ ) के बाद मुसलमानों में खिलाफत या इमामत या लीडर कौन इस बात पे मतभेद हुआ और कुछ मुसलमानों ने तुरंत हजरत अबुबक्र (632-634 AD) को खलीफा बना के एलान कर दिया | इधर हजरत अली (अ.स०) जो हजरत मुहम्मद (स.व) को दफन करने

जौनपुर का इतिहास जानना ही तो हमारा जौनपुर डॉट कॉम पे अवश्य जाएँ | भानुचन्द्र गोस्वामी डी एम् जौनपुर

आज 23 अक्टुबर दिन रविवार को दिन में 11 बजे शिराज ए हिन्द डॉट कॉम द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर स्थित पत्रकार भवन में "आज के परिवेश में सोशल मीडिया" विषय पर एक गोष्ठी आयोजित किया गया जिसका मुख्या वक्ता मुझे बनाया गया । इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी

item